Total Pageviews

Wednesday, September 9, 2009

कहानी तीन: चिड़िया और लोमड़ी

एक चिड़िया आसमान में उड़ रही थी कि अचानक भारी बर्फबारी शुरू हो गयी.
चिड़िया बर्फ में दब गयी। ठंड के मारे उसकी हालत खराब होने लगी कि अचानक वहाँ से कथा दो का पात्र बैल वहाँ से गुज़रा और जहाँ चिड़िया दबी थी वहाँ गोबर कर दिया. गोबर की गर्मी से चिड़िया को बहुत राहत महसूस हुई तो वह गाना गाने लगी.
उधर से कहानी दो की लोमड़ी निकल रही थी जैसे ही उसने चिड़िया की आवाज़ सुनी, तुरंत ही उसने गढ्ढा खोदा और चिड़िया को निकाल कर खा गया।
मैनेजमेंट सीख 3 : ज़रूरी नहीं कि सिर पर गोबर करने वाला दुश्मन ही हो और यह  ज़रूरी नहीं कि गढ्ढा खोदने वाला हमेशा दोस्त हो।
http://google.co.in/

1 comment:

Your welcome on this post...
Jai Baba to You
Yours Sincerely
Chandar Meher

Related Posts with Thumbnails